सोमवार, 13 जुलाई 2009

सितारा देवी, भूपेन हजारिका को संगीत अकादेमी फेलोशिप

जानी-मानी कत्थक नृत्यागना सितारा देवी और मशहूर संगीतकार भूपेन हजारिका को इस वर्ष के प्रतिष्ठित संगीत अकादेमी फेलोशिप से सम्मानित किया जायेगा। भारत के राष्ट्रपति प्रतिभा देवी सिंह पाटिल १४ जुलाई को एक विशेष समारोह में नई दिल्ली के विज्ञान भवन में इनके साथ-साथ कला और संस्कृति क्षेत्र की अन्य कई मशहूर हस्तियों को सम्मानित करेंगी. विस्त्तृत जानकारी के लिए कृपया इस लिंक पर जाएँ:
http://fachcha.com/youngistan/sangeet-natak-akademi-fellowship-for-sitara-devi-bhupen-hazarika/

5 टिप्‍पणियां:

  1. बहुत अच्छी बात है, सम्मान मिलना भी चाहिए, इनका योगदान भी तो भरपूर रहा है भारतीय कला क्षेत्र में...

    उत्तर देंहटाएं
  2. आपकी की यह कविता समाज की एक गंभीर त्रुटी की और इंगित करती हुई सुघड़, सुन्दर रचना है,
    साईट की सज-सज्जा आँखों को बहुत भली लगी, सादगी तो हैं लेकिन जीवंत है...
    हार्दिक बधाई इस नयी शुरुआत के लिए ...
    एक समस्या है, आपके नए ब्लॉग ने, हमारी टिपण्णी कबूल नहीं की, आपसे अनुरोध है की हमारा सन्देश कृपया वहां दे दें...
    आप तक यह बात पहुंचाने का और दूसरा कोई रास्ता नज़र नहीं आया इसलिए यह रास्ता अपनाना पड़ा..

    उत्तर देंहटाएं
  3. Ada ji, aapke is jordaar samarthan ka shukriya. Aapki tippni likhne ka housla aur badhayegee.

    उत्तर देंहटाएं
  4. दोनों महान कलाकार को सम्मान मिलना ही चाहिए क्यूंकि उनका बहुत बड़ा योगदान रहा है कलाशेत्र में! मुझे भूपेन जी के गाने बहुत पसंद है खासकर " एक कली तो पत्तियां..."! उनकी आवाज़ में एक अलग ही जादू है! बहत बढ़िया लगा आपका ये पोस्ट!

    उत्तर देंहटाएं
  5. bahut achhi jaankari !! waise bhupen daa ka sangeet jagat bahut badaa yogdaan rahaa hai !! o gangaa bahati ho kyun !! jadui alfaaj utani dilkash awaaj!!

    उत्तर देंहटाएं